धर्म-कर्म

श्री गणेशाय नम: भगवान परशुराम ने समाज में एकता स्थापित करने का दिया संदेश

नूंह, धनेश विद्यार्थी : शहर के राम मंदिर में बुधवार को भगवान भगवान परशुराम जयंती मनाने के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया गया।, जिसमें अधिकांश वक्ताओं ने समाज को एकसूत्र में पिरोने की बात कही। भगवान परशुराम ब्राह्मण महासभा की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम के अध्यक्ष इनेलो के नूंह हलकाध्यक्ष पंडित योगेश शर्मा ने कहा कि भगवान परशुराम साक्षात भगवान शंकर के अवतार माने जाते हैं, जिन्होंने इस धरती को कई बार धर्म की रक्षा के लिए दुष्टों का संहार किया। शर्मा ने कहा कि वे एक महान पितृभक्त थे। उन्होंने कार्यक्रम आयोजकों का आभार जताते हुए समय-2 पर ऐसे आयोजन किए जाने पर बल दिया।

कार्यक्रम में महासभा के सचिव नरेन्द्र शर्मा उर्फ टिंकू ने कहा कि राम मंदिर में भंडारा भी लगाया गया, जिसमें सैंकड़ों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। उन्होंने कहा कि भगवान परशुराम न समाज में एकता कायम रखने का संदेश दिया है, जिस पर अमल का असली समय अब आ गया है। हमें समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने के प्रयास करने चाहिए। कार्यक्रम में डा. पंकज वत्स, डा. प्रदीप, बिजली विभाग के एसडीओ राजीव शर्मा, महासभा के संरक्षक पवन शर्मा, अध्यक्ष जगदीश शर्मा, उपाध्यक्ष अनिल शर्मा, कैलाशचंद, महासचिव सतीश एडवोकेट, सचिव नरेंद्र शर्मा उर्फ टिंकू, राजू शर्मा, प्रभूदयाल, आनंदप्रकाश नंबरदार, प्रकाश चंद, राहुल जैन आदि ने भगवान परशुराम के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
tatkalnews.com
AAR ESS Media
newstatkal@gmail.com
tatkalnews181@gmail.com
Visitor's Counter : 68215205
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved.
Desktop Version