हरियाणा

चांदी का मुकुट पहनाने पर फूटा सीएम का गुस्सा, बोले-यह परंपरा गंवारा नहीं 4 सितंबर को हिसार के बरवाला में आशीर्वाद यात्रा के दौरान वायरल हुए वीडियाे का मामला

COURTESY DAINIK BHASKAR SEP 12

चांदी का मुकुट पहनाने पर फूटा सीएम का गुस्सा, बोले-यह परंपरा गंवारा नहीं
4 सितंबर को हिसार के बरवाला में आशीर्वाद यात्रा के दौरान वायरल हुए वीडियाे का मामला
साेशल मीडिया पर सीएम का एक वीडियाे वायरल हुअा है, जिसको लेकर विवाद शुरू हो गया है। वीडियो में मंच पर मुख्यमंत्री मनाेहर लाल हाथ में फरसा उठाए नजर अा रहे हैं। वीडियाे में डाॅ. हर्षमाेहन भारद्वाज भी दिख रहे हैं। पीछे से वे सीएम को चांदी का मुकुट पहना रहे थे। तभी सीएम ने गुस्से में गर्दन काटने की बात कही। हालांकि तभी भारद्वाज ने हाथ जाेड़कर सीएम से साॅरी फील भी की थी। इस पर सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस और जेजेपी नेताओं समेत ब्राह्माण समाज ने नाराजगी जताई है। इस प्रकरण में भगवान परशुराम जन कल्याण संस्थान के मुख्य संयोजक ज्योति प्रकाश कौशिक ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने का आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है। सीएम का वीडियो 4 सितंबर का है। जब वे अपनी जन अाशीर्वाद यात्रा पर बरवाला पहुंचे थे। बरवाला पहुंचने पर रथ में सीएम के अलावा सांसद बृजेंद्र सिंह, सांसद डीपी वत्स अाैर कर्मचारी चयन अायाेग के पूर्व सदस्य डाॅ. हर्षमाेहन भारद्वाज भी सवार थे।
जेजेपी नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि मनोहर लाल खट्टर के शासनकाल में हरियाणा में 80 निहत्थे लोगों की सरकरी गोली से जान लेने के बाद मुख्यमंत्री स्वयं अब फरसे से लोगों की जान लेने पर तुल गए हैं। वहीं, इस मामले में कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि गुस्सा और अहंकार सेहत के लिए हानिकारक हैं। खट्‌टर साहब को गुस्सा क्यों आता है। फरसा लेकर अपने ही नेता को कहते हैं-गर्दन काट दूंगा तेरी। फिर जनता के साथ क्या करेंगे।
सोने-चांदी के मुकुट कांग्रेस का कल्चर: मनोहर लाल
राजधानी हरियाणा | सीएम मनोहर लाल ने कहा है कि सोने-चांदी के मुकुट लेने की संस्कृति कांग्रेस एवं अन्य राजनीतिक दलों की रही है, जिसे हमने बंद किया है। हमें इस प्रकार का कोई आचरण गंवारा नहीं है, जो हमारी संस्कृति से मेल नहीं खाता। बुधवार को कांग्रेस नेताओं द्वारा किए गए ट्विट सीएम ने स्पष्ट किया कि कार्यकर्ताओं को बरगलाने और उनसे सोने-चांदी के मुकुट लेने, माला डलवाने की कांग्रेसियों की परंपरा रही है। हमने सरकार बनने के बाद से ही इस परंपरा को बंद किया है, क्योंकि ऐसा हमारी संस्कृति इजाजत नहीं देती। उन्होंने कहा कि यकायक पार्टी कार्यकर्ता द्वारा उन्हें मुकुट पहनाने की कोशिश की गई थी, जिसका उन्हें आभास नहीं था और यह क्षण निजी तौर पर असहज करने वाला था, इसलिए इस प्रकार की प्रतिक्रिया दी गई।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
tatkalnews.com
AAR ESS Media
newstatkal@gmail.com
tatkalnews181@gmail.com
Visitor's Counter : 96237027
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved.
Desktop Version