हरियाणा

यमुना में पानी की कमी का फायदा उठाने में जुटा खनन माफिया

COURTESY NBT JULY 22

हथनीकुंड बैराज को खतरा तो नहीं, देखने पहुंचे डीसी


• एनबीटी न्यूज, यमुनानगर

 

अभी यमुना नदी में जलस्तर नहीं है तो इस हालत का नाजायज फायदा अवैध खनन माफिया धड़ल्ले से उठा रहा है। सरकार की हिदायत व नियमों के मुताबिक जुलाई व अगस्त माह में माइनिंग पर प्रतिबंध रहता है, लेकिन इसके बावजूद यमुना के एरिया में रात दिन धड़ल्ले से माइनिंग की जा रही है। इतना ही नहीं खनन माफिया खुद अपने लिए भी जोखिम उठा रहा है।हैरानी की बात ये है कि डीसी के दौरे के बावजूद भी अवैध खनन बंद नहीं हुआ है।

यमुना नदी के बीचों-बीच बेलगढ़ सहित अन्य इलाकों में खनन माफिया द्वारा किस तरह से कई वाहन लगाकर जेसीबी मशीनों की सहायता से यमुना का सीना चीरा जा रहा है। अगर बहुत ज्यादा पानी यमुना में आ गया तो आसपास के कई इलाकों को इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ेगा। यमुना में किसी भी तरह का खनन करने पर पूरी तरह से प्रतिबंध है। मिली जानकारी के मुताबिक हथनीकुंड बैराज से कुछ दूरी पर भी अवैध खनन किया गया है। बता दें कि कुछ साल पहले अवैध खनन और बैराज के पुल से भारी वाहनों के गुजरने के कारण दरार आ गई थी जिसकी मरम्मत के टेंडर दिए गए थे। अगर बैराज के आसपास अब अवैध खनन होता है तो फिर से खतरा पैदा हो सकता है।

अधिकारियों ने किया दौरा : खनन माफिया के अवैध खनन के चलते हथिनी कुंड बैराज को भी खतरा होने की सूचनाएं मिली है। इसी बीच यमुनानगर के उपायुक्त मुकुल कुमार ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ हथिनी कुंड बैराज के अलावा बाढ़ रोकथाम के लिए कार्य किए गए कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिए कि यमुना में पानी आने से पहले पहले बचे हुए कार्य पूरे कर लिए जाएं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
tatkalnews.com
AAR ESS Media
newstatkal@gmail.com
tatkalnews181@gmail.com
Visitor's Counter : 68223393
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved.
Desktop Version