हरियाणा

उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने किया सरल केन्द्र का औचक निरीक्षण, उपायुक्त ने लापरवाह कर्मचारी पर कसा शिंकजा

उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने बुधवार को लघु सचिवालय में स्थापित सरल केन्द्र का औचक निरीक्षण किया तथा यहां पर आये हुए लोगों से रूबरू होकर उनके कार्यो के बारे में जानकारी ली।
उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने सरल केन्द्र में काउंटरों पर जाकर जानकारी हासिल की। जिसमें काउंटर नम्बर एक पर सीएम विंडो, काउंटर नम्बर 2 पर हरसमय, काउंटर नम्बर 3 से 11 तक ड्राईविंग लाईसैंस, वाहन पंजीकरण व अन्य कार्य होते है। इसके अतिरिक्त इस केन्द्र में बनाये गये एक हैल्प डैस्क काउंटर पर भी जानकारी ली, जिसमें टोकन नम्बर अॅलाट किया जाता है तथा फाईलें भी दी जाती है। डीसी यशेन्द्र सिंह टोकन लेने वाली लाईन में स्वयं खडे हुए तथा अपने नंबर आने तक लाईन में लगे रहे उन्होंने जाना कि टोकन लेने में कितना समय लगता है। डीसी टोकन प्रक्रिया जानने के उपरांत विंडो पर पहुंचे उन्होंने देखा कि सुनील नाम का ऑपरेटर अपने पास किसी व्यक्ति को बैठाकर गप्पे लगा रहा था तथा लोग उसके कांउटर पर खडे हुए थे जिसको स्वयं उपायुक्त चार-पांच मिनट तक देखते रहें। डीसी ने मौके पर लापरवाह कर्मचारी को तुरंत वहां से हटाने के आदेश दिये। उन्होंने कहा कि लोगों का कार्य प्राथमिकता के आधार पर करें तथा सरल केन्द्र में कार्य करने वाले कर्मचारियों का व्यवहार मधुर व सौम्य होना चाहिए। श्री सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा है कि लोगों को एक छत के नीचे सभी सुविधा उपलब्ध हो इसके लिए सरल केन्द्र बनाया गया है। सरल केन्द्र में रजिस्ट्रेशन, ड्राईविंग लाईसैंस, हरसमय, सीएम विंडो आदि अनेक सेवाएं प्रदान की जा रही है। इसमें सरल केन्द्र में टोकन व्यवस्था की गई है जो कि हैल्प डैस्क पर उपलब्ध होता है।
सरल केन्द्र में उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने स्वयं टोकन जारी करने वाली प्रक्रिया को जाना। उन्होंने कहा कि टोकन प्रक्रिया से पारदर्शिता से पहले आयो पहले पाये के आधार पर कार्य हो रहा है। जिससे यहां पर आने वाले लोगों को उसका लाभ मिल रहा है।
इस सरल केन्द्र में सीसीटीवी कैमरे भी लगाये गये है जिससे सरल केन्द्र में आने वाले तथा इसमें हो रहे कार्यो की गतिविधियों की निगरानी भी रखी जा रही है।
रेवाडी से आई कंचन जो कि ड्राईविंग लाईसैंस बनवाने के लिए आई हुई थी डीसी ने उससे जाना कि आप कितनी देर से लाईन में हो, कंचन ने डीसी को बताया कि सर पांच मिनट ही हुए है। नये वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए 7833 आवेदन एक अप्रैल 2019 से आज तक प्राप्त हुए है। डीसी ने जाना कि कोई किसी का कार्य लम्बित तो नहीं है। इस पर उन्होंने संतुष्टिï जाहिर की। यहां यह भी बतां दे कि एक अप्रैल 2019 के बाद से आज तक 3 हजार 283 लर्निंग लाईसैंस के लिए 2135 स्थाई ड्राईविंग लाईसैंस के लिए तथा 1092 नवीनीकरण के किये जा चुके है।
इससे पूर्व डीसी ने जिला सचिवालय के परिसर का अवलोकन भी किया तथा परिसर में ईधर-उधर जो बोर्ड व टूटी कर्सिया पडी हुई थी उन्हें हटाने के निर्देश दिये।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
tatkalnews.com
AAR ESS Media
newstatkal@gmail.com
tatkalnews181@gmail.com
Visitor's Counter : 68304205
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved.
Desktop Version