हरियाणा क्राइम

AMBALA- 6 दिन में छठी वारदात, ऑटो में बैठी युवती से छीना Rs.53 हजार कैश व 3.5 लाख के जेवर से भरा बैग

COURTESY DAINIK BHASKAR JUNE 5


6 दिन में छठी वारदात, ऑटो में बैठी युवती से छीना Rs.53 हजार कैश व 3.5 लाख के जेवर से भरा बैग
प्रशासन फेल : कैंट एसडीएम ऑफिस के पास मंगलवार सुबह बाइक सवार युवकों ने की वारदात

ट्विनसिटी के पॉश इलाकों में स्नैचिंग की वारदात बढ़ रही हैं। स्नैचराें के बढ़ते हाैसलाें के चलते पिछले 6 दिन में स्नैचिंग की 6 वारदातें सामने आ चुकी हैं। स्नैचर ऐसी महिलाओं को ज्यादा टारगेट कर रहे हैं जो पैदल या अाॅटाे में सवार होती हैं। बीते चार दिनों की बात करें तो कैंट क्षेत्र में महिलाअाें के साथ स्नैचिंग की 4 वारदातें हो चुकी हैं, जबकि जिलाभर में अलग-अलग मामले भी सामने आ चुके हैं।
वारदात बढ़ने के बाद पुलिस स्पेशल टीम तो बनाती है, लेकिन आरोपियों का सुराग नहीं चल पाता है। अब पुलिस के सामने यह चैलेंज है कि इन आरोपियों को कब तक गिरफ्तार किया जाएगा। शहरभर में स्नैचिंग को लेकर लोगों में रोष है। वारदात बढ़ने से पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठने लगे हैं। एेसा ही एक मामला मंगलवार सुबह सबसे व्यस्तम मार्ग कैंट के स्टाफ राेड पर एसडीएम कार्यालय के पास से ऑटो में बैठी एक युवती के साथ हुअा। बाइक सवार युवक युवती का बैग छीनकर फरार हो गए। बैग में 53 हजार कैश व सोने के चार कंगन, दो चेन पैंडल सोना, तीन अंगूठी सोने की थी। कैंट पुलिस ने युवती के पिता सहारनपुर के मोहम्मद अकील की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। अकील ने कहा कि मंगलवार सुबह लगभग 5 बजे वह तथा उनकी पत्नी शाहजहां, लड़कियां फरहनाज, साबिया, सोनिया, हुसीरा, हमीरा व छोटे बच्चे सहारनपुर जाने के लिए कैंट की डिफेंस काॅलोनी से ऑटो में सवार होकर निकले थे। उन्होंने कैंट के रेलवे स्टेशन जाना था। वह आगे बैठे थे तथा उनकी बेटी फरहनाज ऑटो में पिछली सीट पर किनारे पर बैठी थी। उसके हाथ में लेडीज बैग था। जब वह नौगजा पीर के पास पहुंचे तो एक बाइक पर सवार दो युवक आए वह उनकी तरफ देखते हुए आगे निकल गए। जब उनका ऑटो एसडीएम आॅफिस के पास पहुंचा तो बाइक सवार लड़के फिर से आए। वह उनकी बेटी के हाथ से बैग छीनकर रेलवे स्टेशन की तरफ भाग गए। अकील ने पुलिस से कहा कि आरोपी युवकों के खिलाफ कार्रवाई कर उनका सामान बरामद कराया जाए। इस घटना के बाद पुलिस ने बाइक सवार युवकों को पकड़ने के लिए सीआईए टीम का गठन किया है। पुलिस उम्मीद जता रही है कि जल्द ही स्नैचिंग करने वालों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
वारदात बढ़ने के बाद पुलिस स्पेशल टीम तो बनाती है, पर आरोपियों का सुराग नहीं लग पाता
2018 में हुई ये वारदातें
माह वारदात
जनवरी 4
फरवरी 5
मार्च 11
अप्रैल 9
मई 7
जून 6
माह वारदात
जुलाई 13
अगस्त 8
सितंबर 15
अक्टूबर 12
नवंबर 14
दिसंबर 12
टीमें जांच में लगा दी हैं, जल्द आरोपी पकड़े जाएंगे
पहले जो वारदातें हुई हैं, उन्हें सीसीटीवी चेक करके आरोपियों की पकड़ जारी है। वहीं सीआईए की टीमें भी जांच में लगा दी गई हैं। साथ ही सिविल वर्दी में पुलिस कर्मी भी चौक-चौराहों व गलियों में गश्त के लिए तैनात कर दिए गए हैं। जल्द ही स्नैचिंग के आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा। रामकुमार, डीएसपी, अम्बाला कैंट।
पैदल या ऑटो सवार ज्यादा शिकार
माह वारदात
जनवरी 4
फरवरी 5
मार्च 11
अप्रैल 9
मई 7
जून 6
माह वारदात
जुलाई 13
अगस्त 8
सितंबर 15
अक्टूबर 12
नवंबर 14
दिसंबर 12
पुलिस प्रशासन का परफार्मेंस
बढ़ रही चोरियों से आम लोगों में भय का माहौल
बीते चार माह में ये हो चुकी वारदात, मगर ट्रेस नहीं
1 जून को दो वारदातें | कैंट अजीत नगर के निवासी पंकज वशिष्ठ का स्टाफ राेड पर बाइक सवार युवकाें ने माेबाइल छीन लिया। कैंट में घर जा रही महिला से मोबाइल छीना।
31 मई | बाेह निवासी कविता से निगार सिनेमा की साइड वाली पतली गली में बाइक सवार तीन लड़के मोबाइल छीनकर भाग गए।
30 मई में दो| रात को लुंबा अस्पताल के पास एक्टिवा सवार दाे युवकाें ने एक महिला से फाेन छीन लिया। अग्रसेन चौक के पास बाइक सवार युवकों ने महिला का 12 हजार रुपए से भरा पर्स छीना।
15 मई | अशोक विहार की बुजुर्ग महिला से बाइक सवार दो युवकों ने कान की बाली झपट ली।
8 मई | नारायणगढ़ के बस स्टैंड के समीप फोन सुन रही एक लड़की से लड़का फोन छीनकर भाग गया।
26 अप्रैल | कैंट के रामबाग रोड पर रिक्शा पर जा रहे एक व्यक्ति के हाथ से बाइक सवार युवक रॉड मारकर मोबाइल और 1500 छीन फरार हो गए।
मार्च में कविता स्टाफ नर्स निवासी जग्गी काॅलोनी ऑटो में बैठकर घर आ रही थी। पीछे से दो युवक बाइक पर आए और बैग छीनकर ले गए जिसमें मोबाइल, तीन हजार रुपए, घर और अस्पताल की चाबियां व टिफन था।
ऐसे बचा जा सकता है वारदात का शिकार हाेने से
रिक्शे में हमेशा बीच में बैठें| अगर आप कहीं पर रिक्शे से जा रही है और गोल्ड जूलरी पहनी है तो स्नैचिंग से बचने के लिए रिक्शे के बीचों-बीच बैठें। किनारे पर बैठने से बचें क्योंकि रिक्शा धीमे चलता है और ऐसे में स्नैचर्स किनारे से आसानी से स्नैचिंग कर सकते हैं। अलर्ट भी रहें।
सुनसान रास्तों को करें अवॉइड| गोल्ड ज्वेलरी सभी महिलाओं की पहली पसंद होती है, लेकिन अगर आप सुनसान रास्तों से निकल रही हैं तो या तो जूलरी न पहनें या ऐसे रास्ते को अवॉइड करें। सुनसान रास्तों पर स्नैचर ज्यादा ऐक्टिव होते हैं। वहां कोई मदद के लिए भी नहीं आता।
दुपट्टे से करें खुद को कवर| यदि गोल्ड की ज्वैलरी पहकर बाहर जा रही है तो खुद को कभी दुपट्टे से कवर करना नहीं भूले। इससे गोल्ड की ज्वैलरी पर किसी की नजर नहीं पड़ती। अगर आप भी ऐसा करती है किसी अनहोनी की शिकार होने से बच सकती हैं।
नंबरप्लेट तक नहीं होती आरोपियों के बाइक पर| बाइक सवार युवक पैदल चलने वाली महिलाओं को टारगेट करते हैं, उसके बाद वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं। इन बाइक पर नंबर प्लेट तक नहीं होती। ऐसे में आरोपी भी पकड़े नहीं जाते। आरोपी बेखौफ वारदात को अंजाम दे रहे हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
tatkalnews.com
AAR ESS Media
newstatkal@gmail.com
tatkalnews181@gmail.com
Visitor's Counter : 68215160
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved.
Desktop Version